डोमेन नाम क्या होता है? Domain Name in Hindi

अगर आप इंटरनेट पर इस पोस्ट को पढ़ रहे है तो आपके लिए डोमेन नाम क्या होता है यह समझना बेहद ही आसान है, सीधे शब्दों में कहे तो वर्तमान में आप हमारे वेबसाइट (myhindipedia.com) पर इस पोस्ट को पढ़ रहे है ऐसे में “myhindipedia” एक डोमेन नाम है। टेक्निकली डोमेन नाम एक यूनिक नाम होता है जिसे माध्यम से आप किसी भी वेब सर्वर पर होस्टेड सामग्री को वेबपेज के रूप में अपने कंप्यूटर पर देख पाते है।

डोमेन नेम क्यों जरूरी है?

किसी भी वेबसाइट पर पहुंचने के लिए आपको उसके IP Address को जानना जरूरी है, यही IP Address उस सर्वर का पता लगाती है जहा पर उस वेबसाइट के सभी मटेरियल होस्टेड होते है। IP Address याद करने में काफी कठिन होता है ऐसे में हर वेबसाइट के IP को याद रख पाना संभव नहीं था और इसी वजह से डोमेन नाम प्रणाली (Domain Name System) की शुरुवात हुई।

डोमेन नाम सिस्टम के आने के बाद लोगो को बस उस वेबसाइट के डोमेन नाम को याद रखना पड़ता है, जो की अंग्रेजी के शब्दों से बने होते है जिसे याद रखने में कोई तकलीफ नहीं होती है और जैसे ही आप उस डोमेन नाम को अपने वेब ब्राउज़र में एंटर करते है वह डोमेन नाम उस वेबसाइट के IP Address को पॉइंट करके साइट के कंटेंट को आपके सामने पेश कर देता है।

उदहारण के तौर पर जब आपको गूगल का होमपेज खोलना होता है तो आप google.com लिख कर आसानी से खोल पाते है लेकिन एक पल के लिए मान लीजिये की अगर यह डोमेन नाम सिस्टम नहीं होता। फिर आपको गूगल खोलने के लिए IP Address (216.58.216.164) को लिखना पड़ता।

डोमेन नाम का उदहारण: google.com, facebook.com, twitter.com, msn.com, myhindipedia.com और लाखों करोड़ों वेबसाइट के नाम।

डोमेन नाम एक्सटेंशन? Domain Name Extension

किसी भी डोमेन नाम में जो आखरी का हिस्सा होता है उसे डोमेन नेम एक्सटेंशन के नाम से जानते है। उदहारण के तौर पर .com, .in, .org, .info सभी Domain Name Extension के उदहारण है। वर्तमान में लगभग 1500 से भी अधिक तरह के डोमेन नेम एक्सटेंशन मौजूद है जिन्हें आप अपने वेबसाइट के लिए खरीद सकते है। इन सभी एक्सटेंशन को कई भागों में बाटा जा सकता है-

TLD

इंटरनेट पर मौजूद डोमेन नाम सिस्टम में टॉप लेवल डोमेन को सबसे उच्च स्तर का माना जाता है, उदाहरण के तौर पर हमारे इस वेबसाइट पर .com इस्तेमाल किया गया है जो की एक टॉप लेवल डोमेन एक्सटेंशन है।

ccTLD

इंटरनेट पर मौजूद सभी डोमेन नाम को संचालित करने वाली संस्था आइकैन (ICANN) हर देश को अलग अलग तरह की डोमेन नाम प्रदान करता है और इन सभी डोमेन नाम को उस देश के वेबसाइट के लिए इस्तेमाल किया जाता है। उदहारण के लिए जो भी वेबसाइट .in के साथ ख़त्म होती है वह भारत की होती है उसी तरह से .us अमेरिका के लिए, .au ऑस्ट्रेलिया के लिए निर्धारित किया गया है।

Subdomain क्या है? What is Subdomain in Hindi

एक वेबसाइट ओनर के रूप में आपको इस subdomain की सबसे अधिक जरूरत होती है, अपने domain name को कई भागों में बाटने के लिए इस subdomain का इस्तेमाल किया जाता है। उदहारण के तौर पर अगर आप अपने वेबसाइट को दो अलग अलग भाषाओं के लिए बनाना चाहते है तो आप इस काम को subdomain के माध्यम से कर सकते है। इंग्लिश वेबसाइट के लिए english.example.com, हिंदी वेबसाइट के लिए hindi.example.com कर सकते है।

डोमेन नाम कैसे ख़रीदे? How to buy Domain Name

इंटरनेट पर जितने भी डोमेन नाम मौजूद है उसे एक संस्था रेगुलेट करती है जिसका नाम है आइकैन (ICANN), लेकिन आप अपने लिए इस संस्था से डायरेक्ट डोमेन नाम नहीं खरीद सकते है। इस काम के लिए आइकैन (ICANN) ने बहुत से डोमेन नाम प्रोवाइडर्स को लाइसेंस दे रखा है जो की डोमेन नाम सेल कर सकते है। e.g: godaddy, bigrock, bluehost, namecheap, bluehost, 1and1 etc.

दोस्तों हमें पूरा उम्मीद है की आपको अब यह समझ गए होंगे की आखरी यह डोमेन नाम क्या होता और किस तरह से डोमेन नाम का पूरा सिस्टम काम करता है। अगर आपके मन में अभी भी किसी भी तरह का कोई प्रश्न है तो निचे के कमेंट बॉक्स में हमारे साथ जरूर शेयर करें, हम आपके सवालों के जवाब देने के लिए हमेशा तैयार बैठे है।

Published by

नमस्कार दोस्तों, मैं सच्चिदानंद सिंह आप सभी के तरह ही हिंदी का एक पाठक हूँ जिसे हिंदी के तरह तरह के लेख पढ़ने का शौक है, पिछले कुछ दिनों से MyHindiPedia के माध्यम से मैं अपनी जानकारी आप सभी के साथ अपनी ही भाषा हिंदी में साझा कर रहा हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *